पालनहार योजना क्या है – Eligibility, Registration, जरूरी सूचना आदि

दोस्तों, क्या आप राजस्थान के निवासी हैं? अगर हाँ! तो इस आर्टिकल के जरिए आपको लाभ हो सकता है क्योंकि इसमे हम आपको बताने वाले हैं पालनहार योजना के बारे में। अगर आप इस योजना के बारे में नहीं जानते तो हम आपको बता दें की ये योजना आपके बहुत काम आ सकती है अगर आप इसके लिए योग्य हैं तो।

इस आर्टिकल में हम आपको पालनहार योजना से जुड़ी हर एक जानकारी देने वाले हैं जैसे पालनहार योजना क्या है, इसके लिए पात्रता क्या है, इससे जुड़ी जरूरी सूचना क्या है आदि। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप पालनहार योजना के बारे में सब कुछ जान जाएंगे। तो चलिए आर्टिकल शुरू करते हैं और जानते हैं राजस्थान की पालनहार योजना के बारे में।

पालनहार योजना क्या है

पालनहार योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई है जो की 0 से 18 वर्ष के विशेष देखभाल वाले बालक/बालिकाओं की विभिन्न श्रेणियों के लिए शुरू की गई है। ऐसे बालक/बालिकाओं की देखभाल और उनका पालन-पोषण उनके परिवार के सदस्य या फिर किसी निकटतम रिश्तेदार द्वारा किया जाता है। इस योजना का नाम पालनहार योजना इसलिए है क्योंकि इसमे ऐसे बालक और बालिकाओं को पालने वाले व्यक्ति को पालनहार कहा गया है। इस योजना के अंतर्गत ऐसे बालकों और बालिकाओं के आर्थिक, सामाजिक और शैक्षणिक विकास के लिए सरकार हर महीने धन राशि यानि आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

आवश्यक दस्तावेज – श्रेणी के हिसाब से

पात्र बालक/बालिका की श्रेणीश्रेणी के हिसाब से आवश्यक दस्तावेज
अनाथ बच्चेमाता-पिता की मृत्यु के प्रमाण पत्र की photocopy
तलाकशुदा या परित्यक्ता महिला के बच्चेतलाकशुदा/परित्यक्ता pension भुगतान आदेश (PPO) की photocopy
मृत्यु दंड/आजीवन कारावास प्राप्त माता-पिता के बच्चेदण्ड आदेश की photocopy
विशेष योजयजन माता-पिता के बच्चे40% या अधिक disability के प्रमाण पत्र की photocopy
निराश्रित pension की पात्र विधवा माता के 3 बच्चेविधवा pension भुगतान आदेश (PPO) की photocopy
नाता जाने वाली माता के 3 बच्चेनाता गए हुए 1 वर्ष से अधिक समय होने का प्रमाण पत्र की photocopy
पुनर्विवाहित विधवा माता के बच्चेपुनर्विवाहित के प्रमाण पत्र की photocopy
कुष्ठ रोग से पीड़ित माता/पिता के बच्चेसक्षम बोर्ड द्वारा जारी की गई चिकित्सा प्रमाण पत्र की photocopy
HIV/AIDS से पीड़ित माता-पिता के बच्चेART center द्वारा जारी ARD diary/green card की photocopy

पालनहार योजना – अन्य आवश्यक दस्तावेज

  1. पालनहार का भामाशाह card
  2. पालनहार का ये प्रमाण पत्र (विधवा/तलाकशुदा/परित्यक्ता एवं BPL श्रेणी में आय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य नहीं है)
  3. बच्चे का आधार card
  4. मूल निवास प्रमाण पत्र की photocopy
  5. बच्चे का आंगनवाड़ी केंद्र पर पंजीकरण
  6. अनाथ बच्चों का पालन-पोषण करने का प्रमाण पत्र

पालनहार योजना – अनुदान राशि

  1. 0-6 वर्ष – 500 रुपये प्रतिमाह (0 से 3 वर्ष के बालक/बालिका का आंगनवाड़ी केंद्र में पंजीकरण या विध्यालय में जाने का प्रमाण पत्र अनिवार्य नहीं है। लेकिन 3 से 6 वर्ष के बालक/बालिका का आंगनवाड़ी केंद्र में पंजीकरण या विध्यालय में जाने का प्रमाण पत्र अनिवार्य है।)
  2. 6-18 वर्ष – 1000 रुपये प्रतिमाह (बालक/बालिका का विध्यालय/व्यावसायिक शिक्षा हेतु किसी संस्थान में जाने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य है)
  3. 2000 रुपये वार्षिक अतिरिक्त एकमुश्त देय (विधवा पालनहार व नाता पालनहार में नहीं दिया जाएगा)

पालनहार योजना – पात्रता

  1. पालनहार व्यक्ति की वार्षिक आया 1,20,000 से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  2. पालनहार और बच्चे कम-से-कम 3 वर्ष से राजस्थान में रह रहे होने चाहिए।

पालनहार योजना की आवेदन प्रक्रिया क्या है

  1. सबसे पहले आपको राजस्थान की social justice and empowerment department की official website पर जाना है और वहाँ से योजना का application form download कर लेना है।
  2. इसके बाद आपको इसका print निकालना है और फिर form भरना है। Form में पूछी गई जानकारियाँ सही-सही भरनी हैं, इसलिए उसे ध्यान से भरें।
  3. Form भरने के बाद उसके साथ अपने सभी जरूरी documents attach करें।
  4. अगर आप शहर में रहते हैं तो आपको अपना form शहरी क्षेत्र में विभाग जिला अधिकारी के पास जमा करना है और अगर आप गाँव में रहते हैं तो आपको अपना form संबंधित विकास अधिकारी के पास जमा करना है या फिर E-mitra KIOSK केंद्र मैं जमा करना है।

इस प्रकार आप पालनहार योजना में आवेदन कर सकते हैं।

पालनहार योजना के लाभ

  1. पालनहार योजना से अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता दी जाएगी जिससे उनका भविष्य उज्ज्वल बनेगा।
  2. 0 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों को प्रतिमाह 500 रुपये की धनराशि दी जाएगी और 6 से 18 वर्ष के बच्चों को प्रतिमाह 1000 रुपये की धनराशि दी जाएगी।
  3. इतना ही नहीं 2000 रुपये हर साल कपड़े, जूते और अन्य आवश्यक चीजों को खरीदने के लिए दिए जाएंगे।
  4. इस योजना के माध्यम से अनाथ व विशेष देखभाल वाले बच्चों को आर्थिक सहायता दी जाएगी ताकि उन्हे अपने खर्चे के लिए किसी पर निर्भर ना रहना पड़े।

पालनहार योजना से जुड़ी जरूरी सूचना

  1. बच्चे का “आंगनवाड़ी केंद्र पर पंजीकरण/विध्यालय में अध्ययनरत होने का प्रमाण पत्र” प्रति वर्ष माह जुलाई में E-mitra kiosk के माध्यम से update करवाना अनिवार्य है वरना पालनहार योजना के तहत अनुदान राशि का भुगतान जुलाई के महीने से रोक दिया जाएगा।
  2. पालनहार के पास भामाशाह card होना अनिवार्य है। अगर पालनहार का mobile number बंद है, या भामाशाह card में दर्ज नहीं है या mobile number बदला है या फिर उसकी व्यक्तिगत सूचना में कोई बदलाव हुआ है तो उसे वो अपने भामाशाह card में update करना अनिवार्य होगा।
  3. बच्चे का आधार card आवश्यक है और पालनहार को बच्चे का आधार card प्रस्तुत करना होगा और उसे बच्चे के biometric अथवा OTP के माध्यम से verification करवाना होगा। अगर बच्चे की कोई जानकारी बदली है या फिर mobile number में कुछ भी बदलाव हुआ है तो तो वो आधार card में update करवाना होगा।

पालनहार योजना से जुड़े सवाल

पालनहार योजना का उद्देश्य क्या है?

इस योजना का उद्देश्य अनाथ बच्चों को किसी संस्था में ना रख कर बल्कि उन्ही के किसी परिवार के इच्छुक सदस्य न निकटतम परिचित के पास रख कर उसे पारिवारिक माहौल में शिक्षा, भोजन, वस्त्र आदि चीजें प्रदान करना है ताकि उन बच्चों का भी विकास हो सके और उन्हे अपने खर्चे के लिए किसी पर निर्भर ना रहना पड़े।

पालनहार योजना की शुरुआत किसने करी है?

इस योजना की शुरुआत राजस्थान सरकार के social justice और empowerment department द्वारा की गई है।

पालनहार योजना का Registration कहाँ कर सकते हैं?

अगर आप इस योजना में registration करना चाहते हैं तो इसका application form download कर सकते हैं या फिर आप हमारे इस आर्टिकल में आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया पढ़ सकते हैं।

पालनहार योजना के लिए Helpline Number क्या है?

अगर आप इस योजना के बारे में कुछ और जनना चाहते हैं तो इस helpline number पर call करके बात करें – 0141-2226604.

पालनहार योजना किस राज्य में शुरू की गई है और इसका लाभ कौन-कौन उठा सकता है?

इस योजना को राजस्थान में शुरू किया गया है और इसका लाभ राजस्थान के अनाथ बच्चे उठा सकते हैं।

पालनहार योजना में कितने पैसे मिलते हैं?

पालनहार योजना के अंतर्गत 500 रुपये, 1000 रुपये और 2000 रुपये मिलते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने आपको पालनहार योजना के बारे में सारी जानकारी दे दी है और हमें उम्मीद है की आपको ये आर्टिकल और इसमे बताई गई जानकारी काम आई होगी। अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें और ऐसे ही आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारी website से जुड़े रहें।

Leave a Comment