हरियाणा पशुधन बीमा योजना: आवेदन प्रक्रिया, पात्रता और लाभ {2022}

हेलो दोस्तों, आज मैं आपको एक नयी योजना के बारे में जानकारी देने वाला हूँ जो की भारत सरकार द्वारा अभी हाल ही में लांच करी गयी है जिसका नाम है हरियाणा पशुधन बीमा योजना। यह योजना हरियाणा के लोगो के लिए है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताएंगे की इस योजना से आपको क्या लाभ मिल सकता है, इसका उद्देश्य क्या है और साथ ही हम आपको इस योजना के लिए पात्रता, इसके लाभ और इस योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में भी बताएँगे। तो अगर आप हरियाणा पशुधन बीमा योजना के बारे में सब कुछ जानना चाहते हैं तो ये आर्टिकल पूरा पढ़ें।

Table of Contents

हरियाणा पशुधन बीमा योजना क्या है

हरियाणा पशुधन बीमा योजना की शुरुआत हरियाणा के लोगों के पशुओं के लिए की गयी है। इस योजना के अंतर्गत हरियाणा के पशुओं का बीमा करा जाएगा जिसके तहत पशु के मालिक को हर महीने ₹25 रुपये से लेकर ₹100 रुपये तक का प्रीमियम देना होगा। इस योजना के तहत पशुओं का 3 साल का बीमा किया जाएगा और अगर पशु की 3 साल की अवधि के दौरान मृत्यु हो जाती है तो सरकार द्वारा पशु को मुआवज़ा प्रदान किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत दुधारू पशु, ऊँठ, भेड़/बकरी, इकाई, सूकर इकाई और भारवाही पशु का बीमा किया जाएगा। इस योजना का फायदा अनुसूचित जाती के लोग मुफ्त में उठा सकते हैं।

हरियाणा पशुधन बीमा योजना का उद्देश्य

जब किसी व्यक्ति के पशु की मृत्यु हो जाती है तो उसे काफी नुक्सान होता है क्योंकि एक किसान के लिए उसका पशु काफी महत्वपूर्ण होता है या पशुपालकों के लिए पशु काफी जरूरी होते हैं। और अगर पशु मर जाता है तो ऐसे व्यक्तियों को काफी नुक्सान होता है। पशुओं की मृत्यु से होने वाले आर्थिक नुक्सान से व्यक्तियों को बचाना ही इस योजना का उद्देश्य है। इस योजना के अंतर्गत अगर 3 साल के अंदर किसी पशुपालक के पशु की मृत्यु हो जाती है तो सरकार उसे बीमा कवर देती है ताकि पशुपालकों को आर्थिक सहायता दी जाए।

हरियाणा पशुधन बीमा योजना के लिए पात्रता (Eligibility)

  1. आवेदक हरियाणा का मूल निवासी होना चाहिए।
  2. इस योजना के अंतर्गत केवल कुछ ही पशुओं को बीमा कवर दिया जाएगा जो की हैं – गाय, भैस, सूयर, बैल, बकरी, भेड़, ऊँठ।

हरियाणा पशुधन बीमा योजना के लिए दस्तावेज

  1. मतदाता पहचान पत्र/राशन कार्ड की कॉपी, ड्राइविंग लाइसेंस
  2. रद्द किये गए बैंक चेक की प्राप्ति
  3. आधार कार्ड की कॉपी
  4. पैन कार्ड की कॉपी
  5. बैंक पासबुक की कॉपी

हरियाणा पशुधन बीमा योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

  1. सबसे पहले आपको हरियाणा पशुधन बीमा योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है।
  2. आधिकारिक वेबसाइट से आपको पशुधन योजना में आवेदन करने के लिए फॉर्म डाउनलोड कर लेना है।
  3. फॉर्म डाउनलोड करने के बाद आपको एप्लीकेशन फॉर्म का प्रिंट निकाल लेना है।
  4. प्रिंट निकालकर आपको उस फॉर्म में सभी महत्वपूर्ण जानकारी भर देनी है जैसे – नाम, मोबिलबे नंबर, पता आदि।
  5. फॉर्म भरने के बाद आपको एप्लीकेशन फॉर्म के साथ सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना है।
  6. इसके बाद आपको आवेदन पत्र को सम्बंधित विभाग में जाकर जमा कर देना है।

इस प्रकार आप हरियाणा पशुधन बिमा योजना में आवेदन कर सकते हैं।

हरियाणा पशुधन बीमा योजना में प्रीमियम की राशि

सामान्य पशु

बड़े/ दुधारू पशु₹100 रुपये /- प्रति पशु
भेड़, बकरी व सूयर₹25 रुपये /- प्रति पशु

अभिजात वर्ग के पशु

गरीबी रेखा से ऊपर₹500 रुपये /-
गरीबी रेखा से निचे₹250 रुपये /-
अनुसूचित जातीनिःशुल्क

हरियाणा पशुधन बीमा योजना में मुआवजे की राशि

पशुमुआवजा
गाय₹80,000
भैस₹88,000
सूयर₹5,000
घोड़ा₹40,000
बकरी₹5,000
भेड़₹5,000

हरियाणा पशुधन बीमा योजना के आंकड़े

हरियाणा राज्य में प्रत्येक शहर से लगभग 3,29,000 लोगों ने इस योजना के अंतर्गत बीमा करवाया है। और निचे हमने इस योजना के अंतर्गत किया गए बीमों के आँकड़े शहरों के हिसाब से दिए हैं।

जिले का नामआँकड़े
यमुनानगर20652
अंबाला8083
सोनीपत8291
भिवानी25213
सिरसा32985
चरखीदादरी13105
रोहतक10119
फरीदाबाद11487
रेवाड़ी12833
फतेहाबाद15843
पानीपत10464
गुरुग्राम7273
पंचकूला4227
हिसार19236
पलवल11863
झज्जर7698
मेवात22983
जींद14021
महेंद्रगढ़20113
कैथल14294
कुरुक्षेत्र15245
करनाल23320

हरियाणा पशुधन बीमा योजना के लाभ/विशेषताएं

  1. इस योजना के कारण पशुपालकों को पशु की मृत्यु होने पर आर्थिक लाभ दिया जाएगा ताकि उन्हें नुक्सान ना हो।
  2. इस योजना के तहत पशुओं का 3 साल का बीमा किया जाएगा और अगर 3 साल की अवधि के दौरान पशु की मृत्यु होती है तो पशुपालक को मुआवजे की राशि दी जायेगी।
  3. इस योजना का लाभ अनुसूचित वर्ग के लोग मुफ्त में उठा सकते हैं।
  4. इस योजना के अंतर्गत लगभग 1 लाख पशुओं को बीमा कवर दिया जाएगा।
  5. इस योजना के माध्यम से पशु की मृत्यु होने पर पशुपालक को आर्थिक हानि से बचाया जाएगा।
  6. इस योजना के अंतर्गत

हरियाणा पशुधन बीमा योजना का लाभ किन परिस्तिथियों में मिलेगा

  1. अगर पशु की मृत्यु किसी प्राकृतिक आपदा में होती है तो पशुपालक को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  2. अगर पशु की मृत्यु प्राकृतिक तरीके से होती जैसे – पशु बीमार है या उसके साथ कोई और दुर्घटना हुई है जैसे – उसे करंट लग गया या उसका एक्सीडेंट हो गया तब भी पशुपालक को इस योजना का लाभ मिलेगा।

ऐसी सब परिस्तिथियों में पशुपालक इस योजना का लाभ उठा सकता है।

हरियाणा पशुधन बिमा योजना से सम्बंधित सवाल

1. हरियाणा पशुधन बीमा योजना की शुरुआत किसने और कब करी थी?

हरियाणा पशुधन बिमा योजना की शुरुआत हरियाणा सरकार द्वारा 29 जुलाई 2016 को की गयी थी।

2. हरियाणा पशुधन बीमा योजना का लाभ कौन-कौन उठा सकता है?

इस योजना का लाभ हर वो व्यक्ति उठा सकता है जो की हरियाणा का मूल निवासी है और पशुपालक है। इसके साथ ही अनुसूचित जाती के लोग इस योजना का लाभ मुफ्त में उठा सकते हैं।

3. इस योजना में सरकार पशुपालकों की किस प्रकार सहायता करेगी?

इस योजना में सरकार पशु की प्राकृतिक मृत्यु होने पर पशुपालक को मुआवजा देकर उसकी सहायता करेगी।

ये भी पढ़ें:

निष्कर्ष

दोस्तों, यहाँ पर हमने आपको हरियाणा पशुधन बीमा योजना से सम्बंधित सारी जानकारी दे दी है। अगर आप हरियाणा राज्य के मूल निवासी हैं और पशुपालक भी हैं तो आपको इस योजना के लिए आवेदन जरूर करना चाहिए। क्योंकि अगर आपके पशु को भगवान ना करे कुछ होता है तो आपको सरकार मुआवजे के तौर पर कुछ धन राशि देगी जिससे आपकी सहायता होगी। लेकिन ये तभी होगा जब आप इस योजना में आवेदन कर अपने पशु का बिमा करवाएंगे। आप चाहें तो इस योजना के बारे में इस PDF में पढ़ सकते हैं।

तो अगर आपने ये आर्टिकल पूरा नहीं पढ़ा है तो इसे पूरा पढ़ें और योजना में आवेदन करें। अगर आपने ये आर्टिकल पढ़ लिया है तो हम उम्मीद करते हैं की आपको समझ में आ गया होगा की हरियाणा पशुधन बीमा योजना क्या है और इसमें आवेदन कैसे करते हैं। अगर आपको ये आर्टिकल और इसमें दी गयी जानकारी पसंद आयी हो तो इसे अपने मित्रों के साथ शेयर जरूर करें ताकि अगर वो इस योजना के लिए योग्य हों तो इसका लाभ उठा सकें।

2 thoughts on “हरियाणा पशुधन बीमा योजना: आवेदन प्रक्रिया, पात्रता और लाभ {2022}”

Leave a Comment