Bihar Alpsankhyak Loan Scheme क्या है? पढ़िए पूरी जानकारी

भारत सरकार द्वारा निरंतर ही अर्थव्यवस्था में सुधार करने के लिए कोई न कोई नया काम किया जाता है। और इसी बात को मध्य नज़र रखते हुए, बिहार की सरकार ने एक बहुत ही उचित कदम लिया है जो की है मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना। जी हाँ, बिहार द्वारा शुरू की गयी ये एक काफी अच्छी योजना है। और आज के इस article में हम आपको इस योजना से सम्बंधित सभी जानकारियां देंगे। जैसे – बिहार Alpsankhyak Loan क्या है? इसके लाभ, नुक्सान, विशेषताएं, उद्देश्य, जरूरी दस्तावेज़, आवेदन प्रक्रिया आदि। दोस्तों अगर आप भी इस योजना के बारे में साड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल करना चाहते हैं तो इस article को पूरा जरूर पढ़ें।

Table of Contents

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोज़गार योजना क्या है?

योजना का नाममुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोज़गार योजना
वेबसाइट का लिंकhttp://bsmfc.org/
मंत्रालयबिहार सरकार
किस राज्य के लिए बनायी गयी हैबिहार के लिए
लाभार्थीबिहार के अल्पसंख्यक समुदाय के लोग
योजना का उद्देश्यलोगों को लोन देना ताकि नए startups शुरू हों और रोज़गार बढ़ सके
कब शुरू की गयीसन 2012 में
किस उम्र के लोगों के लिए है18 साल से 50 साल तक के लोगों के लिए
कितने तक का लोन ले सकते हैं500000 तक का (5 लाख रुपये तक का)
बजट100 करोड़

यह योजना बिहार के अल्पसंख्यक वत्तीय निगम समिति के द्वारा शुरू की गयी थी। इस योजना के अंतर्गत, अल्पसंख्यक सम्प्रदाय के लोगों को 500000 रु का तक का लोन नए-नए startups (नए business) को शुरू करने के लिए दिया जाएगा, जिससे की रोज़गार के अवसर बढ़ें।

इस योजना को साल 2012 में शुरू किया गया था और साल 2012 से लेकर साल 2016 तक इस योजना का बजट 25 करोड़ रुपये तह किया गया था। उसके बाद साल 2016-2017 में इस योजना का बजट बढाकर 75 करोड़ रुपये कर दिया गया था। परंतु साल 2017 के बाद इस योजना का बजट बढाकर 100 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष कर दिया गया था, जिससे की ज़्यादा से ज़्यादा startups शुरू हो सकें और रोज़गार के अवसर भी बढ़ सकें और देश का विकास हो।

अल्पसंख्यक रोज़गार योजना के लिए जरूरी दस्तावेज़

  1. Mobile Number
  2. आधार Card
  3. राशन Card
  4. जन्म प्रमाण पत्र
  5. निवास प्रमाण पत्र
  6. आय प्रमाण पत्र
  7. Passport Size Photograph

कौन-कौन अल्प्संक्यक रोज़गार योजना से लोन ले सकता है?

दोस्तों निचे दिए गए जितने भी चरण है अगर आप उनमे आते हैं तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

  1. लोन लेने के लिए लोन लेने वाले की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए और अधिक से अधिक 50 वर्ष होनी चाहिए। इसका मतलब है की लोन लेने वाले की आयु 18 से 50 वर्ष के बीच में होनी चाहिए।
  2. जो लोन लेने वाला है, वह बिहार का निवासी होना चाहिए और बिहार में ही रहना चाहिए।
  3. लोन लेने वाला किसी भी प्रकार से सरकारी कर्मचारी नहीं होना चाहिए।
  4. आवेदन करने वाले के परिवार की साल की कमाई 100000 से अधिक नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक योजना के लाभ और विशेषताएं

  1. इस योजना का सबसे बड़ा लाभ यह है की यह योजना समाज के अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के लिए है, तो इसका मतलब है की सरकार समाज के अल्पसंख्यक समुदाय पर भी ध्यान देती है।
  2. इस योजना का लाभ सिर्फ बिहार के अल्पसंख्यक समुदाय के लोग ही उठा सकते हैं।
  3. इस योजना के तहत बिहार की सरकार समाज के अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को लोन देगी ताकि वो भी नए-नए startups शुरू कर सकें और रोज़गार के अवसर भी बढ़ें।
  4. इस योजना के माध्यम से अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के विकास होगा।
  5. लोन की राशि अधिक-से-अधिक 500000 रुपये होगी, जिससे की कोई भी आदमी अपना कोई भी काम बहुत ही आसानी से शुरू कर पायेगा।
  6. यह योजना बिहार की अल्पसंख्यक वित्तीय निगम समिति द्वारा शुरू करी गयी है।
  7. बिहार सरकार द्वारा इस योजना का बजट 100 करोड़ रुपये निर्धारित किया गया है, जिससे की ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की सहायता हो सके और रोज़गार भी बढे।
  8. अगर आप इस योजना के लिए आवेदन करते हैं तो लोन की राशि सीधा आपके Bank Account में आ जायेगी।
  9. अगर लोन लेने वाला निर्धारित समय से पहले या निर्धारित समय पर पूरी लोन की राशि का भुगतान कर देता है तो उसे ब्याज दर में 0.5% की छूट दी जायेगी।
  10. इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपकी उम्र 18-50 साल के बीच में होनी चाहिए।

अल्पसंख्यक रोज़गार योजना के लाभार्थियों का चयन

जैसा की अभी हमने जाना की इस योजना का प्रारम्भ अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की सहायता करने के लिए किया गया है। और इस योजना के अंतर्गत अधिक-से-अधिक 500000 का लोन दिया जा रहा है। अब तक सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 437 आवेदन प्राप्त किये गए हैं। और इन आवेदनों में से लाभार्थियों की चयन प्रक्रिया भी शुरू कर दी गयी है।

जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी से सहायता सचिव जिला चयन समिति के द्वारा यह जानकारी मिली है की चयन प्रक्रिया के लिए एक समिति का आयोजन किया गया है। यह समिति 21 December 2020 से 2 पालियों में चयन का कार्य कर रही हैं। और चयन प्रक्रिया के समय कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए सभी सुरक्षा उपाय का पालन भी किया जा रहा है।

पहली पाली सुबह 11:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक होती है और दूसरी पाली दोपहर 2:00 बजे से लेकर शाम 5:00 बजे तक होती है। यह चयन प्रक्रिया 25 December 2020 तक समाप्त हो जायेगी। और चयन समिति द्वारा चयन का कार्य, निचे दिए गए table के अनुसार किया जा रह है।

दिनांकआवेदन आईडी संख्याप्रथम पालीदूसरी पाली
21 दिसंबर 20201 से 1001 से 5051 से 100
22 दिसंबर 2020101 से 100101 से 150151 से 200
23 दिसंबर 2020201 से 300201 से 250251 से 300
24 दिसंबर 2020301 से 400301 से 350351 से 400
26 दिसंबर 2020401 से 437400 से 437N/A

Note: अगर आवेदक (लोन के लिए आवेदन करने वाला) निर्धारित तारीख के बाद verification के लिए उपस्थित होता है तो उसका आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएगा।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोज़गार योजना का चयन कैसे होगा?

  1. सबसे पहले आवेदक (लोन लेने वाला) को बिहार अल्पसंख्यक योजना में अपना Registration करवाना होगा।
  2. उसके बाद चयनित उम्मीदवारों को लोन की राशि की मंजूरी देने से पहले उम्मीदवारों का Passport Verification Report Commissioner-ate IN-charge के पास जायेगी।
  3. इसके बाद ये फैसला किया जाएगा की उन्हें लोन देना है या नहीं और उसके बाद उनके documents Commissioner IN-charge द्वारा sign किये जाएंगे।
  4. इन सब प्रक्रिया के बाद अगर उमीदवार को लोन देना होगा, तो लोन की राशि सीधे लाभार्थी के bank account में direct transfer कर दी जायेगी।

अल्पसंख्यक रोज़गार योजना का उद्देश्य क्या है?

यह योजना ख़ास-तौर से अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के लोए बनायीं गयी है और इस योजना के तहत अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को 5 लाख रुपये तक का लोन दिया जाएगा, जिससे की वे नए नए काम को शुरू कर सकें और रोज़गार के अवसरों में बढ़ोतरी हो।

इस योजना से अल्पसंख्यक लोगों को काफी मदद मिलेगी और सिर्फ उनका ही नहीं बल्कि समाज और पुरे देश का भी काफी भला होगा। क्योंकि जब लोग लोन लेकर कोई नया काम शुरू करेंगे तो वे सिर्फ अपने लिए ही नहीं बल्कि दूसरे लोगों के लोए भी रोज़गार के अवसर पैदा करेंगे।

और इस योजना की मदद से देश की अर्थव्यवस्था में भी सुधार आएगा। क्योंकि अगर रोज़गार बढ़ेंगे तो देश की अर्थव्यवस्था भी बढ़ेगी।

अल्पसंख्यक रोज़गार योजना के लिए Counselling?

अल्पसंख्यक रोज़गार योजना के लिए 1 December 2020 से counselling शुरू हो चुकी है और ये counselling 7 December 2020 तक चलेगी। साल 2019-20 में लगभग 1790 लोगों द्वारा इस योजना में आवेदन किया गया था। और अब counselling की प्रक्रिया शुरू भी शुरू हो चुकी है।

जिस-जिस ने इस योजना के लिए आवेदन किया था, उनकी पहले एक counselling होगी उसके बाद ही उनके लोन की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।

यह counselling इसलिए की जायेगी ताकि सरकार ये जान सके की जिस काम के लिए आप पैसा ले रहे हो वो काम हो भी सकता है या नहीं। अगर सरकार को आपका business idea पसंद आया तो सरकार आपको लोन जरूर देगी, और आपकी सहायता जरूर करेगी।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक लोन योजना की वापसी कैसे होगी?

  1. ब्याज दर – 3 महीने के moratorium period के बाद, लोन की राशि पर 5% का एक साधारण ब्याज लगाया जाएगा।
  2. EMI – लोन की राशि को 20 बराबर किश्तों में भुगतान किया जाएगा।
  3. छूट – अगर लोन लेने वाला निर्धारित समय से पहले या निर्धारित समय पर पूरी लोन की राशि का भुगतान कर देता है तो उसे ब्याज दर में 0.5% की छूट दी जायेगी।
  4. Penalty – अगर लोन लेने वाला समय पर किश्त का भुगतान नहीं करता है तो उन्हें सरकार को penalty देनी होगी।
  5. Post Dated Check – लोन लेने वाले को 10 से 20 post dated check जमा करवाने होंगे।

अल्पसंख्यक योजना के लिए आपकी Guarantee लेने वाला?

  1. अगर लोन 1 लाख रुपये का है तो किसी ऐसे व्यक्ति की guarantee होनी चाहिए जिसके खुद के पास, या फिर उसके माता-पिता के पास किराये की रसीद या फिर कोई other related documents हों।
  2. अगर लोन 1 लाख रुपये से ज्यादा का हो तो सरकार, बैंक, Income Tax Payer, अर्ध सरकार, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शिक्षक से registered मदरसे, आदि, जिनके पास zone property है उनकी guarantee होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोज़गार योजना के लिए Eligibility क्या है?

  1. इस योजना का लाभ उठाने के लिए लोन लेने वाला बिहार का ही permanent resident (निवासी) होना चाहिए।
  2. आवेदन करने वाला अल्पसंख्यक समुदाय का ही होना चाहिए और उसकी उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच में ही होनी चाहिए।
  3. आवेदन करने वाला किसी भी सरकारी या फिर अर्ध-सरकारी संस्था में काम करने वाला नहीं होना चाहिए।
  4. आवेदन करने वाले के परिवार की सालाना income 4 लाख रुपये या फिर उससे कम होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोज़गार योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

अब हम आपको बताएँगे की आप Alpsankhyak Loan के लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए आपको निचे दिए गए steps को ध्यान से follow करना होगा।

  1. सबसे पहले आपको अपने किसी भी नज़दीकी bank में जाना होगा।
  2. उसके बाद आपको उस bank से मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक लोन योजना का application form लेना होगा।
  3. Application Form लेने के बाद आपको उसमे पूछी गयी सभी जानकारियों को बहुत ही ध्यान से भरना होगा।
  4. अब form को fill करने के बाद, आपको इसमें अपने सभी जरूरी documents को attach करना होगा।
  5. अब ये सब होने के बाद, आपको उस application form को उसी bank में जमा कर देना है जहाँ से आपने ये form लिया था।
  6. बस, आपने अपना काम कर दिया है। अब form को जमा करने के बाद आगे की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी।
  7. और इस प्रकार आप मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक बिहार लोन योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

1. Alpsankhyak Loan रोज़गार योजना क्या है?

इस योजना के तहत बिहार के अप्ल्संख्यक समाज के लोगों को Bihar द्वारा 5 लाख रुपये तक का loan दिया जाएगा, जिससे नए बिज़नेस शुरू हो सकें और रोज़गार के अवसर बाद सकें इसलिए इस योजना का पूरा ना है बिहार अल्पसंख्यक लोन रोज़गार योजना।

2. Alpsankhyak योजना का कौन-कौन इसका लाभ उठा सकता है?

इस योजना का लाभ बिहार के अल्पसंख्यक समुदाय के लोग उठा सकते हैं। और यह योजना भी के अल्पसंख्यक समुदाय के लोगो के लिए ही बनायी गयी है।

Helpline Number

वैसे तो हमने इस article में आपको सभी जानकारी दे दी है। लेकिन अगर फिर भी आपको किसी प्रकार की कोई परेशानी हो रही है तो आप इनके Helpline Number या फिर इनके Email पर इन्हे contact कर सकते हैं और अपनी परेशानी का हल ले सकते हैं।

Helpline Number – 18003456123
Email – minocorpatna@gmail.com

Conclusion

दोस्तों, इस article में हमने मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोज़गार लोन योजना से सम्बंधित सभी जरूरी जानकारियां दे दी हैं। और हम उम्मीद करते हैं की आपको ये article पसंद आया होगा और अगर आपको ये article पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें ताकि उन्हें भी यह जरूरी जानकारी मिल सके।

Leave a Comment